पीएफ़आई क्या हैं (Full Form) PFI Raid | PFI Meaning | PFI News | ईडी और एनआईए

पीएफ़आई क्या हैं (Full Form) PFI Raid | PFI Meaning | PFI News | ईडी और एनआईए What Is PFI (फुल फॉर्म,केरल पार्टी) Latest News, State Name PFI Stands for

पीएफआई क्या है पीएफआई की फुलफार्म क्या है, पीएफआई संगठन, पीएफआई राजस्थान, पीएफआई की छापेमारी, पीएफआई उत्तर प्रदेश, पीएफआई की फंडिंग, पीएफआई के ठिकाने, केरल पीएफआई, पीएफआई महाराष्ट्र, पीएफआई आंध्र प्रदेश, पीएफआई पुडुचेरी,पीएफआई कर्नाटक, पीएफआई दिल्ली, पीएफआई असम, पीएफआई मध्य प्रदेश, पीएफआई तमिलनाडू, पीएफआई गिरफ्तारी, पीएफआई का ऑफिस, मिशन 2047, लेटेस्ट न्यूज, पीएफआई का क्या मतलब होता है , पीएफआई लीडर, लेटैस्ट खबर, पीएफआई लेटेस्ट न्यूज

Popular Front of India (पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) PFI Full Form, What Is PFI, PFI Kya hai, PFI Kya Hota Hai, PFI Founder, Meaning of PFI, PFI Cases, PFI Ban, PFI stands for, PFI India, PFI Raid, PFI Party, PFI Latest News 2022, PFI Flag, PFI vs RSS, PFI Leader India, PFI India

एनआईए के द्वारा भारत में जो रेड मारी गई है उसको अब तक की सबसे बहुत बड़ी रेड बताया जा रहा है, इसमें एनआईए ने देश के अलग- २ हिस्सों में पीएफआई की छापेमारी की गई है इसमें अभी तक 12 राज्य में पीएफआई की छापेमारी की गई है, दूसरी तरफ ईडी के द्वारा भी पीएफआई के कई ठिकानों पर छापेमारी की गई है। इस छापेमारी में पीएफआई के 106 लोगों से ज्यादा की गिरफ्तारी अब तक हो पाई है। आज के इस लेख में हम आपको PFI से जुड़ी हर जानकारी इस लेख में उपलब्ध करवाने वाले है, ये पीएफआई होता है, क्यों आज इस पर देश में तनाव है, किस तरह से लोगो को तैयार करता है उनको ट्रेनिंग देता है, क्यों PFI से देश में तनाव का माहौल दिखाई दे रहा है, देश के हर कोने में क्यों पीएफआई की गूंज सुनाई दे रही है पीएफआई की पूरी जानकारी लेने के लिए इस लेख को ध्यान से पढ़िए।

पीएफ़आई क्या हैं (Full Form) PFI Raid | PFI Meaning | PFI News | ईडी और एनआईए pfi kya hai, pfi full form
पीएफ़आई क्या हैं (Full Form) PFI Raid | PFI Meaning | PFI News | ईडी और एनआईए

पीएफआई क्या है (What Is PFI) और पीएफआई फुलफॉर्म (PFI Full Form)

पीएफआई अर्थ : पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (Popular Front Of India) पीएफआई एक इस्लामिक संस्था है। ये संगठन लोगो को जागरूक करता है, लोगो को कहता है “हक से आवाज उठाओ। यह लोगो को कहता है की आप हमेशा अपने हक के लिए लड़ो, अपने हक के लिए बोलो, किसी से डरो मत इससे आपकी आवाज बुलंद होगी। इसी संगठन के माध्यम से ही आपकी आवाज कोई सुनने वाला होगा, इस संगठन की स्थापना 22 नवंबर 2006 में की गई थी। इस संगठन को केरल के कालीकट से शुरू किया था, बताए जाता है इसकी जड़ें वही से शुरू हुई है और इस संगठन का मुख्यालय (Headquarters) दिल्ली के शाहीन बाग में स्थित (Located) है।

यह एक मुस्लिम संगठन होने से इसकी ज्यादातर गतिविधियां (Activities) मुस्लिम समुदायों के लोगो के इलाकों में ही दिखाई देती है, मुस्लिम समुदायों के लोग भी अपने आरक्षण के लिए सड़कों पर उतरते है तो ये संगठन सबसे आगे दिखाई देता है. यह संगठन सबकी नजरों में तब आया था। जब दिल्ली के रामलीला मैदान में इस संगठन की और से नेशनल पॉलिटिकल कांफ्रेंस (National Poltics Confrences) का आयोजन (Organizing) किया गया था। और इस आयोजन में बहुत भारी संख्या में मुस्लिम समुदायों के लोग रामलीला मैदान में जमा हो गए थे।

पीएफआई अब तक कहा कहा फैला है :

पीएफआई ने अब तक देश के 23 राज्यों में अपने संगठन की नींव रख दी है। इन राज्यों में रहकर इन समुदायों के लोग अपनी गतिविधियों (Activities) को अंजाम देते रहते है। इस संगठन का मानना है कि हमे सुरक्षा, न्याय, और स्वतंत्रता के लिए हमेशा एकत्र रहना है। हमेशा एक दूसरे का साथ देना है। इस समुदाय के अलावा ये संगठन आदिवासी और दलितों को भी इस संगठन में जोड़ने की तैयारी कर रहे है। क्योंकि इनका मानना है की इन लोगो पर भी अत्याचार हो रहा है।जिसके लिए इन्हें हमारे संगठन का साथ देना चाहिए और उनपर हो रहे अत्याचारों को जड़ से खत्म किया जा सके।



पीएफआई का नेता कौन है (Leader of PFI)

पीएफआई के नेता (Leader) का नाम अबूबकर सिद्दीक बताया जा रहा है। इस संगठन के लीडर के नाम को आरएसएस नेता श्रीनिवास की हत्या करने के मामले में जोड़ा गया है। पुलिस का मानना है है की आरएसएस नेता श्रीनिवास की हत्या करने के पीछे पीएफआई का हाथ है।

क्या भारत में PFI पर रोक है (PFI Banned in India)

अभी तक पीएफआई पर कोई भी फैसला नहीं लिया गया है। इसी वजह से ही अभी पीएफआई पर कोई भी रोक (Banned) नही लगाई गई है। केंद्रिय गृह मंत्रायल की और से पीएफआई पर रोक लगाने के लिए बैठक बुलाई गई थी। लेकिन उस बैठक में कोई भी निर्णय नही निकल कर आया था। परंतु न्यायमूर्ति सूर्यकांत और न्यायमूर्ति एएस बोपन्ना और प्रधान न्यायाधीश एनवी रमण का कहना है की कई ऐसे राज्य है जिसमे पीएफआई (PFI) पर रोक लगा दी गई है। बाकी बचे राज्यों में भी जल्दी ही पीएफआई पर रोक लगाई जाएगी।



मिशन 2047 का क्या है और क्या है इसका मकसद (Purpose of Mission 2047)

पीएफआई संगठन के द्वारा भारत में मिशन इस्लाम 2047 को बनाया गया है। इस 2047 मिशन का मकसद मुस्लिम समुदाय के लोगों को इक्टठा करके भारत को मुस्लिम राष्ट्र देश बनाना है। इस मिशन के तहत बहुत सारी प्लैनिंग को भी बनाया जा रहा है। इस मिशन के लिए देश के हर हिस्से से मुस्लिम समुदाय के लोगो को इक्ठा करके उनमें से चुनकर उनको एक विशेष तरह की ट्रेनिंग दी जाती है जिसे वो अपने काम में ट्रेंड हो सके। और अपने मिशन 2047 को पूरा कर सके।

मिशन 2047 कहा-कहा तक फैला है।

मिशन 2047 के ट्रेनिंग कैंप को मुस्लिम समुदाय को ट्रेनिंग देने के लिए कई राज्यों में तैयार किया गया है। ट्रेनिंग देने वाले राज्य केरल, बिहार, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और झारखंड है। उन्हें इस ट्रेनिंग में धृणा फैलाने की ट्रेनिंग दी जाती है।

मिशन 2047 में किस तरह की ट्रेनिंग दी जाती है।

एक रिपोर्ट के अनुसार “मिशन 2047” मार्शल आर्ट (Marshel Art) की ट्रेनिंग के लिए फुलवारी शरीफ (Phulwari Sharif) बिहार राज्य के पटना ज़िले में स्थित एक नगर है, इसमें एक कैंप लगाया गया था। इस ट्रेनिंग कैंप में मुस्लिम समुदाय के लोगों को चाकू, तलवार चलाने की विशेष ट्रेनिंग दी गई थी। और उन्हे कई तरह के भड़काऊ नारे भी सिखाए गए थे।

मिशन 2047 के ट्रेनिंग कैंप से छापेमारी में क्या मिला। (Mission 2047)

पुलिस द्वारा जब मिशन 2047 के ट्रेनिंग कैंप में छापेमारी की गई तो उसमे पीएफआई के पंपलेट्स, झड़े और भड़काऊ भाषणों से भरी पड़ी कई किताबें भी बरामद हुई थी। उन किताबों पर मिशन 2047 की पूरी प्लानिंग को डिटेल दी गई थी।

मिशन 2047 की फंडिंग कहां से होती है (Mission 2047 Funding Details)

एक रिपोर्ट के अनुसार पता चला है की मिशन 2047 की फंडिंग पाकिस्तान और तुर्की से मिल रही है। इस मिशन की फंडिंग के पैसे अबतक तीन अकाउंट के द्वारा इन लोगो तक पहुंचाए गए है। जिसमे कुल मिलकर अबतक 83 लाख रूपये की रकम का खुलासा किया गया है। पुलिस ने मिशन 2047 को चिंताजनक बताया ह

पीएफआई पर छापेमारी (PFI Raid)

एनआईए (NIA) और ईडी (ED) के द्वारा हाल ही में पीएफआई (PFI) का ठिकाना ‘ तिरुवंतपुरम’ पर छापेमारी की गई है। इस छापेमारी में ED ने 4 पीएफआई को हिरासत में लिया गया है। इनमे पीएफआई के केरल राज्य चीफ मोहम्मद बशीर, ओमा सलेम, राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य पी कोया और राष्ट्रीय सचिव वीपी नजरूद्दीन शामिल है इन 4 लोगो को हिरासत में लिया गया है।

इनके अलावा दिल्ली समेत और भी कई राज्यों में ED और NIA की छापेमारी की जा रही है। जिसमें बिहार, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के 100 ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है। ED के मुताबिक इन छापेमारी से टेरर फंडिंग को रोका जा सकता है।

तेलंगाना राज्य में पीएफआई का ऑफिस सील किया गया। (PFI Office Sealed Telangana)

एनआईए (NIA) द्वारा पीएफआई के तेलंगाना ऑफिस को सील कर दिया गया है। इसके बाद से ही पीएफआई के कार्यकर्ताओं का जोरदार विरोध प्रदर्शन जारी है। लेकिन प्रशासन इसपर कोई करवाई नही करना चाहती है।

कहा – कहा लोगों की गिरफ्तारी हुई है

पीएफआई (PFI) के कार्यकर्ताओ की दिल्ली से 3, उत्तर प्रदेश से 8, केरल से 22, कर्नाटक से 20, आंध्र प्रदेश से 5, राजस्थान से 2, असम से 9, मध्य प्रदेश से 4, पुडुचेरी से 3, तमिलनाडू से 10 और महाराष्ट्र से 20 लोगों की गिरफ्तारी की गई है।

विरोधियों का कहना सरकार दबा रही है हमारी आवाज।

ED और एनआईए की छापेमारी के बाद पीएफआई के महासचिव अब्दुल सत्तार का बयान सामने है जिसमे उसने कहा है कि सरकार फासीवादी शासन द्वारा विरोध करने वाले लोगों की आवाजों को एजेंसियों के उपयोग से उनकी आवाज को दबाया जा रहा है। इसका एक उदाहरण तो आधी रात को देखने को मिला है। जब ईडी और एनआईए ने नेताओं के घरों में जाकर छापेमारी की है।

उम्मीद करता हु (PFI kya hai, PFI Full Form) इन सब के बारे में जानकर आपको अच्छा लगा होगा. अगर आपको मेरा ये लेख पसंद आया हो तो आप कॉमेंट के माध्यम से हमे बता सकते है और इसे अपने दोस्तों, रिश्तेदारों के साथ Share साझा भी कर सकते है धन्यवाद।



Leave a Comment

Skip to content