Narco Test क्या होता है (Narco Test Meaning In Hindi) क्यों किया जाता है और कैसे होता है 2023

Narco Test क्या होता है (Narco Test Meaning In Hindi) क्यों किया जाता है और कैसे होता है 2023

आज हम आपको बताने वाले है Narco Test Meaning In Hindi Narco Test Kya Hota Hai, Narco Test kyo kiya jata hai, Narco Test Kaise hota Hai, Narco Test Full Form, Narco Test Meaning In Hindi, Narco Test, Narco Test Meaning, Narco Test In Hindi, Narco Test Price (नार्को टेस्ट क्यों किया जाता है, और कैसे किया जाता है, नार्को टेस्ट फुल फॉर्म)

Narco Test क्या होता है (Narco Test Meaning In Hindi) क्यों किया जाता है और कैसे होता है 2023

दोस्तों आज हम बात करने वाले है Narco Test Meaning In Hindi, Narco Test क्या होता है, और कैसे होता है जैसे कि आप सब जानते हैं देश में आए दिन अपराध बढ़ते ही जा रहे हैं जैसे मर्डर, किडनैप, ऑनर किलिंग, आदि लेकिन कई अपराधी जुर्म करके पुलिस वालो के सामने अपना जुर्म कबूल नही करते है और पुलिस वालो को गुमराह करते है, उनसे झूठ बोलते है।

तो आइए आज का ये लेख शुरू करते है और आपको बताते है Narco Test क्या होता है, और नार्को टेस्ट कब किया जाता है आज के इस लेख में हम आपको Narco Test से जुड़ी जानकारी विस्तारपूर्वक बताने वाले है. तो आइए शुरू करते है Narco Test क्या होता है।

Narco Test क्या होता है?

नार्को टेस्ट एक ऐसा टेस्ट है. जिसके जरिए झूठ बोलने वाला इंसान सच बोलने लगता है, और यह टेस्ट अपराधी के लिए इस्तेमाल किया जाता है नार्को टेस्ट के द्वारा अपराधी सब कुछ सच बोलने लगता है इस टेस्ट द्वारा किसी भी व्यक्ति से उसका सच बुलवाया जा सकता है, आप देख रहे है भारत में हर दिन एक नया जुर्म बढ़ता ही जा रहा है और अपराधी अपना जुर्म कबूल करने से साफ मना कर देते है ऐसे में नार्को टेस्ट का सहारा जाता है।

लेकिन नार्को जब किया जाता है जब किसी का बेरहमी से कत्ल किया जाता है और अपराधी फिर भी झूठ बोलता है। नार्को टेस्ट करते समय अपराधी को Truth Serum नाम का Injection लगाया जाता है जिसे वह सब कुछ सच – सच बोलने लगे।

यह टेस्ट कोई नॉर्मल टेस्ट नही होता, इस टेस्ट को फोरेंसिक टीम द्वारा अपराधी पर किया जाता है, इस टेस्ट को डॉक्टर साइकोलॉजिस्ट, इन्वेस्टिगेशन अधिकारी और फॉरेंसिक एक्सपर्ट की उपस्थिति में किया जाता है।

Narco Test Meaning In Hindi

नार्को का अर्थ होता है – नारकोटिक्स ऑफिसर. नार्को टेस्ट में व्यक्ति के शरीर में सोडियम पेंटाथोल नाम की दवाई का इंजेक्शन लगाया जाता है, यह अपराधी को सम्मोहक अवस्था में डाल देता है और उसकी सोचने की क्षमता को कम करता है और वह बिना किसी अवरोध के आसानी से बोलना शुरू कर देता है. इसलिए इस दवाई को Truth Serum कहा जाता है।

यह भी पढ़े :-

Alexa क्या है (What is Alexa in Hindi) पूरी जानकारी हिंदी में

Google Adsense का Approval कैसे ले? Best Tips &Tricks In Hindi 2023

Narco Test क्यों किया जाता है?

अगर कोई भी व्यक्ति झूठ बोल रहा है तो नार्को टेस्ट द्वारा किसी भी इंसान का सच उगलवाया जा सकता है। नार्को टेस्ट का इस्तेमाल ज्यादातर एक अपराधी के लिए किया जाता है जब कोई अपराधी किसी का बेरहमी से खून कर देता है और पुलिस उसी इंसान पर शक होता है तब पुलिस High Court से परमिशन लेकर नार्को टेस्ट करवाती है. जैसे, फिलहाल एक घटना हुई है|

आफताब नाम के लड़के ने श्रद्धा नाम की लड़की के 35 टुकड़े करके फ्रिज में रखे थे लेकिन अब आफताब साफ मना कर रहा है की श्रद्धा को मेने नही मारा, और ना ही मेने उसके टुकड़े करके फ्रिज में रखे। लेकिन पुलिस ने आफताब की बात नही मानी और 22-11- 2022 यानी की कल आफताब का Narco Test करवाया जाएगा।

नार्को टेस्ट कई बार यह देखने के लिए भी किया जाता है कि इस कांड से इस व्यक्ति का कोई संबध है या नही, यह इस कांड में involved था या नही, नार्को टेस्ट के समय उसको कई अलग – अलग तस्वीरे दिखाई जाती है ताकि वह उन तस्वीरों को देखकर कुछ पता हो तो बता सके. अगर उसको कुछ भी पता होता है तो उसकी body अलग तरह से ही रिएक्ट करने लगती है।

Narco Test कैसे किया जाता है?

नार्को टेस्ट करने के लिए सबसे पहले अपराधी को Truth Drug या फिर Pentothol नाम का इंजेक्शन लगाया जाता है, इस इंजेक्शन के लगाने के बाद अपराधी की हालत ऐसी हो जाती है की वो न तो बेहोश होता और ना ही पूरी तरह होश में रहता, कहने का मतलब है की अपराधी अपने वश में नही रहता वह अपनी सोचनी की क्षमता बिलकुल ही खो देता है, उस से जो सवाल पूछा जाएगा, उसका जवाब वो सही या गलत में अच्छी तरह देता है, मतलब वह झूठ बिलकुल भी नही बोल पाता क्योंकि वह कुछ समय के लिए सोचने की क्षमता को बिलकुल ही खो देता है जिसे वह हर सवाल का जवाब सच में ही देता है।

नार्को टेस्ट CBI की देख रेख में किया जाता है सीबीआई को इस टेस्ट ये पता करना होता है की ये व्यक्ति इस अपराध से जुड़ा है या नही, अगर वह व्यक्ति उस घटना से जुड़ा हुआ होता है तो उसका शरीर भी कुछ अलग ही रिएक्ट करता है और इस से भी अंदाजा लगाया जा सकता है की यह व्यक्ति इस घटना से जुड़ा हुआ है।

नार्को टेस्ट के दौरान अपराधी को उस घटना से जुड़ी कई तरह की चीजे भी दिखाई जाती है ताकि वो उन्हे देखकर सच बोलने लग जाए. जैसे, किसी व्यक्ति की तस्वीर, वीडियो या किसी जगह की तस्वीर, या फिर कोई बात याद दिलवाने की कोशिश की जाती है. और फिर उसके शरीर का रिएक्शन भी चेक किया जाता है।

नार्को टेस्ट में अपराधी को दी जाने वाली दवाइयां उसके Gender और उसका Checkup करने के बाद दी जाती है. क्योंकि अपराधी को इसकी ज्यादा डोज देने के कारण नार्को टेस्ट फैल भी हो सकता है, इसलिए इन बातो का ध्यान रखकर ही Narco टेस्ट किया जाता है। ताकि नार्को टेस्ट Successfull रहे।

उम्मीद करता हु दोस्तों आज का हमारा ये लेख Narco Test Meaning In Hindi | Narco Test क्या होता है आपको अच्छे से समझ आया होगा, अगर आपको ये लेख पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों, रिश्तेदारों के साथ आसानी से शेयर कर सकते है, अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल पूछना हो तो आप Comment के माध्यम से

Leave a Comment

Skip to content