Keyword Density Kya Hai Hindi और इसे कितना रखना चाहिए ? 2023

Keyword Density Kya Hai और इसे कितना रखना चाहिए ? 2023

हेलो दोस्तो आज के इस लेख में हम बात करने वाले है Keyword Density Kya Hai और इसे कितना रखना चाहिए

अगर आप भी एक ब्लॉगर है और आप पॉपुलर  keyword खोजने की तलाश में दिन रात लगे रहते है क्योकिं ब्लॉगर का काम ही होता है एक अच्छा Keyword को ढूढना। अगर हम किसी ब्लॉगर को मिलते है तब भी हमारे बीच मे Keyword की ही बात होगी। क्योंकि ब्लॉगर में keyword बहुत अहमियत रखता है तो आज हम इस आर्टिकल्स में Keyword Density Kya Hai ? और यह कैसे जरूरी है और अगर आप एक न्यू ब्लॉगर है तो Keyword क्या है इसपर भी बात करेंगे। और Keyword किसी भी ब्लॉग को सफल बनाने के लिए कितना जरूरी है ?

Keyword Density Kya Hai ? और इसे कितना रखना चाहिए ?

Keyword Kya Hai ? कीवर्ड क्या है 

Keyword Density Kya Hai ? और इसे समझने से पहले हम आपको समझाएंगे Keyword क्या होता है, वास्तव में जब हम ब्लोगिंग की दुनिया में नए होते है तो हमें ब्लॉगिंग की ज्यादा जानकारियाँ ना होने के कारण हम गलत तरीक़े से मेहनत में लग जाते है। और हमे लगता है जितने ज्यादा आर्टिकल्स हम अपने ब्लॉग पर पोस्ट करेंगे उतना ही ज्यादा हम सफल होगा। लेकिन ऐसा मानना बिल्कुल भी ठीक नहीं है। और हमेशा यही बताया जाता है की Content Quality पर ध्यान देना चाहिए ना कि Content Quantity पर।

अब हम आपको बताएंगे किस प्रकार Quality Content पर कैसे ध्यान दे। इसके लिए आपको High Quality Content को डालना होगा। High Quality Content का मतलब है की आप जो भी Articles अपने ब्लॉग के लिए लिख रहे है। वो ऐसा होना चाहिए कि पढ़ने वाला जो जानकारी ढूंढ रहा है वो आपके articles में होनी चाहिए एक एक Point के साथ अच्छे से ताकि पढ़ने वाला आपके Articles से कुछ सिख पाए और जो Visitor आपके ब्लॉग पर ढूढ़ने आया है उसे वो जानकारी हासिल हो पाए आपके आर्टिकल्स द्वारा।

दूसरी बात आपको Content Quality के साथ आपको Keyword Research पर भी मेहनत करने की जरूरत होगी। आप अपने Content लिखने से पहले उस से Related कुछ कीवर्ड ढूंढ ले। ताकि आपका Content गूगल में रैंक कर सके और ढूढंने वाले को आपकी पोस्ट टॉप 10 में दिखाई देने लगे जिस से आपके ब्लॉग पर traffic खुद ब खुद आ सके।

Example: जैसे हम गूगल में सर्च करें “SEO क्या है” यह एक ब्लॉगिंग कीवर्ड है और इसे सर्च करने के बाद है SEO से संबंधित आपके सामने रिजल्ट दिखाई देने लगेगा

अगर आप कंटेंट से संबंधित कीवर्डस को ध्यान में न रख कर ही कंटेंट को डालते हैं तो इसे आपकी मेहनत और समय दोनों को ही पूरी तरह खराब हो रहा है और ऐसा आर्टिकल सर्च इंजन में रैंक करवाना असंभव हो जाता है। इसलिए हमेशा आपको यही बताया जाता है की सभी आर्टिकल में Keyword का अच्छे से उपयोग करें ताकि आप द्वारा लिखा गया आर्टिकल्स गूगल में रैंक करा सके।

अब हम आपको बताएंगे Keyword Research Kaise करते है ? सर्च करने के लिए कुछ टॉप टूल दिए गए है जैसे Semrush, Ahref, Keyword Everywhere, Keyword Planner, ये टूल्स आपको कीवर्ड खोजने में बहुत मदद करते है।

उम्मीद है ऊपर दी गयी जानकारी आपको समझ आई होगी। अब हम आपको “Keyword Density क्या है” इसके बारे में बताएँगे।

Keyword Density Kya Hai ? और इसका कैसे ध्यान रखे।

Keyword को ढूँढ लेने के बाद का काम होता है Keyword Density पर ध्यान देना। इसमें Seo से जुड़े कुछ नियमों का सख्त पालन करना होता है इसे आप ब्लोगिंग का आधार भी कह सकते है।

Keyword Density : आपके द्वारा लिखा गया आर्टिकल में जिस कीवर्ड को मुख्य फोकस किया है उसकी परसेंटेज को  Keyword Density कहते है।

Keyword Density = (Focus Keyword / Total word of post ) * 100

जैसे: आपने कोई आर्टिकल्स 1000 शब्दों का लिखा है उसमे फोकस कीवर्ड 19 बार प्रयोग किया गया है तो उसकी सूत्र के मुताबिक Keyword Density 1.9% है 

SEO के नियमो के मुताबिक अगर आपके लेख में Keyword Density 1% से कम और 2.5% से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। वरना आपके आर्टिकल को रैंक करवाना न के बराबर हो जाता है और गूगल इसे स्पैमिंग में भी डाल सकता है।

अगर आप अपनी Post में Keyword Stuffing करना चाहते है तो आपको करना क्या होगा। मुख्य कीवर्ड Post के टाइटल में, पहले पैराग्राफ में, Headings H1 & H2 में, Description में तथा आखिर में प्रयोग करना बहुत जरूरी हो जाता है।

तो ये थी दोस्तों Keyword से सम्बंधित सभी जानकारी हिंदी में, उम्मीद करता हु PoetryDukan द्वारा लिखे गए इस आर्टिकल्स से आपने बहुत कुछ सीखा होगा अगर आपने कुछ सीखा है तो Please कॉमेंट बॉक्स में कमेंट जरूर करे धन्यवाद ।

Leave a Comment

Skip to content