Nifty क्या होता है? What Is Nifty In Hindi इसकी गणना कैसे की जाती है Full Form

Nifty क्या होता है? What Is Nifty In Hindi इसकी गणना कैसे की जाती है Full Form | Nifty क्या है? निफ्टी और सेंसेक्स में अंतर क्या होता है?

Nifty क्या होता है? What Is Nifty In Hindi इसकी गणना कैसे की जाती है Full Form

निफ्टी क्या है? (What Is Nifty)

निफ़्टी (Nifty Full Form) – निफ्टी नेशनल स्टॉक एक्सचेंज National Stock Exchange Fifty। निफ़्टी NSE पर लिस्टेड भारत की टॉप 50 कम्पनियों की एक सूची (Index) है और यह निफ्टी (NSE) नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर सूचीबद्ध 50 सर्वोच्च शेयरों पर आधारित Weighed Average Value और प्रदर्शन को दर्शाती है|

Nifty 50 Index की शुरूआत अप्रैल 1996 में हुई थी और वर्तमान मे Nifty में 12 तरह की भिन्न-भिन्न सेक्टर्स की कंपनियां इसमें शामिल है।

आसान शब्दों में बताया जाए तो Nifty मार्केट के Large Cap Stock का Benchmark होता है और यह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध 50 प्रमुख Shares का इंडेक्स होता है। जो 50 कंपनियां निफ़्टी में इंडेक्स होती है उनपर नज़र रख सकता है।

निफ़्टी 50 अपनी लिस्टेड कंपनियों के कीमतों में बढ़ोतरी और गिरते हुए कीमतों पर पूरा ध्यान रखता है और निफ्टी शेयर बाजार और देश की अर्थव्यवस्था को भी अच्छी तरह से व्यक्त करता है। निफ़्टी 50 भारत का सबसे महत्वपूर्ण स्टॉक्स इंडेक्स है निफ़्टी में 50 से अधिक कंपनियों को लिस्टेड नही किया जा सकता है

निफ़्टी एक Index है यह शेयर नही है, इसलिए निफ़्टी में आप सिर्फ़ ETF और Index Fund (NiftyBees) के द्वारा ही निवेश कर सकते है।

Nifty 50 Companies List 2022

1). Reliance Industries Ltd.

2). HDFC Bank Ltd.

3). Tata Consultancy Services Ltd.

4). Housing Development Fin. Corp. Ltd

5). ICICI Bank Ltd.

6). Infosys Limited

7). Kotak Mahindra Bank Limited

8). Hindustan Unilever Ltd.

9). Axis Bank Ltd.

10). ITC Ltd.

11). Larsen and Toubro Ltd.

12). State Bank of India

13). Bajaj FINANCE Ltd.

14). Asian Paints Limited

15). Bharti Airtel Ltd.

16). HCL Technologies Ltd.

17). Maruti Suzuki India Limited

18). WIPRO Software

19). Tata Steel Ltd.

20). UltraTech Cement Limited

21). Mahindra & Mahindra Ltd.

22). Bajaj Finserv Ltd.

23). Sun Pharmaceutical Industries Ltd.

24). Tech Mahindra Ltd.

25). Titan Company Ltd. 

26). Dr Reddys Laboratories Ltd.

27). JSW Steel Ltd.

28). Nestle India Ltd.

29). Indusind Bank Ltd.

30). Tata Motors Ltd.

31). Power Grid Corporation of India Ltd.

32). Grasim Industries Ltd.

33). HDFC Life Insurance Company Limited

34). NTPC Limited

35). Divis Laboratories Ltd.

36). Hindalco Industries Ltd.

37). Bajaj Auto Limited.

38). Adani Ports & Special Economic Zone.

39). Cipla Ltd.

40). Tata Consumer Products Limited.

41). SBI Life Insurance Company Ltd.

42). Bharat Petroleum Corporation Ltd.

43). UPL Ltd.

44). Britannia Industries Ltd.Indian Oil Corporation Ltd.

45). Britannia Industries Ltd.

46).  Oil & Natural Gas Corporation Ltd.

47). Eicher Motors Ltd.

48). Hero MotoCorp Ltd.

49). Shree Cement Ltd.

50). Coal India Ltd.

Sensex क्या है? (What Is Sensex)

अब हम आपको बताने जा रहे है सेंसेक्स क्या है आपने अक्शर Tv में सुना और देखा होगा अखबारों में पढ़ होगा सेंसेक्स क्या है और TV में देखा होगा, आज सेंसेक्स इतने अंक ऊपर पहुँच गया तो कभी बताया जाता है की सेंसेक्स आज इतने अंक नीचे गिरा।

अगर आप शेयर बाजार में पैसे लगाने के बारे में मन बना रहे हो, आपके दिमाग में ये बात जरूर आती है Sensex क्या होता है, लेकिन आपको इसका मतलब नही पता होता सेंसेक्स होता क्या है, कैसे काम करता है आज का हमारा लेख सेंसेक्स के ऊपर है आज हमारे इस आर्टिकल्स में के जरिये आपको बताएंगे की सेंसेक्स होता क्या है कैसे काम आता है।

सेंसेक्स की शुरुआत 1 जनवरी, 1986 को दीपक मोहोनि के द्वारा की गई थी। सेंसेक्स Sensitive  INDEX शब्दों से मिकलर बना है, सेंसेक्स BSE (Bombay Stock Exchange) में लिस्टेड 30 सबसे बड़े शेयरों की कीमतों में तेजी और मंदी पर ध्यान रखता है।

Sensex को आसान भाषा मे समझ जाएं तो यह एक Stock Market इंडेक्स है और इसका सबसे जरूरी काम स्टॉक मार्केट में लिस्टेड कंपनियों के सभी शेयर्स के कीमत को दिन-भर देखते रहना है और ऑफिस क्लोजिंग होने के समय पर आपको एक औसत वैल्यू निकालनी होती है जिस से stock market मे लिस्टेड सभी कंपनियों के शेयर्स के भावो में दिन भर होने वाली तेजी और मंदी की खबर आसानी से मिल सके।

(BSE) बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज भारत का सबसे पुराना Stock Exchange है BSE के अधीन कुल 30 मुख्य भारतीय कंपनियां आती हैं। इन कंपनियों को Market Cap ने नजरिये से देखा जाए तो बहुत बड़ी (Large) होती है यह 30 मुख्य कंपनीया भारतीय GDP का कुल 37% है।

Sensex को BSE 30 के नाम से भी जाना जाता है| सेंसेक्स 30 कंपनीया सूची –

Sensex 30 Companies List

1). Ntpc

2). Tata Steel

3). Power Grid Corp.

4). ONGC Nestle

5).  Bharti Airtel

6). Sbi 

7). Larsen & Tubro

8). Itc

9). Asian Paints

10). Hindustan Unilever

11). Reliance Ind.

12). Sun Pharma 

13). Icici Bank

14). Maruti Suzuki

15). Ultratech Cement

16). Titan Co.

17). Bajaj Auto

18). Bajaj Finance

19). Indians Bank

20). Bajaj Finserv

21). Axis Bank

22). Mahindra & Mahindra

23). Kotak Mahindra

24). infosys

25). Tcs

26). Hcl Tech.

27). Tech  Mahindra

28). Hdfc bank

29). Hdfc

30). Hdfc Bank

सेंसेक्स कैसे बनता है How is Sensex formed?

इस से पहले आप ने जाना सेंसेक्स क्या होता है। अब हम आपको बताएंगे Sensex कैसे बनता है? बनने में कोन कोनसी प्रकिया लगती है आइए जानते है विस्तारपूर्वक हिंदी में।

आप अच्छी तरह समझ गए होंगे की Sensex बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का भाग है और सेंसेक्स BSE पर लिस्टेड सिर्फ 30 कंपनियों के शेयर्स के भावो से मिलकर बन है बना है वैसे तो BSE में लिस्टेड कुल कंपनीया 6000 से भी अधिक है। 

लेकिन जब सेंसेक्स की गिनती की जाती है तो उसमें Top 30 कंपनी को शामिल किया जाता है जो मार्किट में लीडर मानी जाती है ये 30 कंपनियों के शेयर वे होते है जो शेयर मार्केट में सबसे ज्यादा ख़रीदे व बेचे जाते है।

और यह 30 लिस्टेड कंपनीया BSE की सबसे बड़ी कंपनीयाँ मानी जाती है क्योकि इनका Market Cap स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड सभी शेयर्स का करीब-करीब आधा होता है जो की यह BSE की बहुत बड़ी सफलता है। 

और ये 30 लिस्टेड कम्पनीयाँ अलग-अलग 13 सेक्टर से चुनकर BSE में शामिल की जाती है और ये चुनी जाने वाली 30 कंपनियां अपने सेक्टर में लीडर (बड़ी) मानी जाती है।

और इन 30 लिस्टेड कंपनीयों का चुनने का काम स्टॉक एक्सचेंज की इंडेक्स कमिटी द्वारा किया जाता है। इस कमिटी को बनाने के लिए कई वर्गों से लोगो को शामिल किया जाता है, जैसे इनमें मुख्य रुप से बैंक, सरकार, और बड़े-बड़े ज्ञानी अर्थशास्त्री शामिल होते है।

सेंसेक्स के फायदे? Sensex Profit

उपर हमने जाना सेंसेक्स क्या होता है, कैसे बनता है, अब हम जानेगें सेंसेक्स से हमे क्या फायदा मिल सकता है। वेसे देखा जाए तो सेंसेक्स में हमे फायदा ही मिलता है इसके जरिये हम भविष्य में मार्किट में होने वाले बदलावों को जान सकते है अच्छी तरह समझ सकते है और ये सब जानकर हम अपने पैसा को ठीक तरह से निवेश कर  सकते है।

कुछ फायदे तो हमे Indirect तौर पर भी मिल जाते हैये ऐसे फायदे है जो कभी सीधे तरीके से हमे नही मिलते और ये फायदे हमारे लिए काफी फायदेमंद होते है रूपए का स्थान बाजार के According बदलता रहता है और जब रूपया अपने आप मे स्ट्रांग होने लगता है तो देश में भी चीज़ें सस्ती होने लगती है। तो आइये जानते है कुछ ही फायदों के बारे में –

1.जब शेयर बाजार अच्छा खासा हो जाता है तो सेंसेक्स में उछाल आ जाता है तो देश में अधिक विदेशी निवेशक आकर भारतीय कंपनियों में पैसा लगाते है तो इससे रुपये में काफ़ी तेजी आएगी और भारत का रुपया विदेशी मुद्रा की तुलना में स्ट्रांग होने लगता  है। और रुपया स्ट्रांग होने से अपने देश की वस्तुएं सस्ती होने लगती है जैसे अपना जो सामान विदेश से आयात होता  वो सस्ता हो जाएगा और हमे कम मूल्य पर मिलेगा।

2.जब सेंसेक्स में उछाल देखने को मिलता है तो  निवेशक भी ऐसी कंपनियों में पैसा लगाना चाहते है जिस से उनका पैसा डबल हो जाए और जब निवेशक इन बड़ी कंपनियों में बहुत सारा पैसा लगा देते है तो ये कंपनियां Grow करने लगती है और बड़ी होने लगती है। और जब भी कोई कंपनी बड़ी होने लगती है तो उसे अपनी कंपनी  लिए नए-नए लोगों की जरूरत होती है तो वे ज्यादा लोगो को नोकरी देंगे जिस से बेरोजगारी में काफी कमी आएगी।

कोरोना काल की बात करे तो भारतीय शेयर बाजार में कोई उछाल देखने को नही मिला लेकिन उसके बाद से लगातार ऊंचाइयों की और बढ़ा है अगर हम 1990 की बात करे तो यह सिर्फ 1000 रुपये के आस पास हुआ करता था लेकिन वर्तमान में की बात करे तो यह 30 गुणा तक बढ़ चुका और यह यह 30,000 को भी पार कर चूका है और प्रतिदिन एक नया इतिहास बना रहा है। 

और आगे भी चलकर यह बहुत ऊचाइयों तक जाने वाला है और निवेशकों को तगड़ा Return देने वाला है

निफ्टी और सेंसेक्स में क्या अंतर है?

Nifty और Sensex यह भारत के दो सबसे बड़े Market Index है, आइयें जानते है इनके बीच के अंतर को –

  • निफ्टी की शुरुआत 1996 में हुई थी जबकि सेंसेक्स की शुरूआत 1986 में।
  • निफ्टी NSE के श्रेष्ठ 50 स्टॉक का इंडेक्स होता है, और सेंसेक्स BSE के टॉप 30 का Index है।
  • Sensex का आधार वर्ष 1978-79 और Base Value 100 है। लेकिन Nifty का आधार वर्ष 1995 है तथा वैल्यू 1000 है।
  • निफ्टी का स्टॉक अधिक होने के कारण इसकी मार्किट को ज्यादा होती है जबकि सेंसेक्स की कम होती है।
  • Nifty को एक बेहतरीन इंडेक्स माना जाता है जो स्टॉक मार्केट को सबके सामने दर्शाता है। लेकिन सेंसेक्स को निफ्टी से कम अहमियत दी जाती है।

निष्कर्ष (Conclusion)

मैं उम्मीद करता हूँ PoetryDukan द्वारा लिखे गए इस लेख से आपको समझ आया होगा सेंसेक्स क्या होता है, कैसे बनता है, इसके फायदे क्या है, अगर आपको मेरी ये जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों, रिश्तेदारों को भी Share कर सकते है। अगर इस से सम्बंधित की भी सवाल आपको पुछना है तो आल कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट कर सकते है धन्यवाद।

Leave a Comment

Skip to content